CBI क्या है ? | CBI की स्थापना कब हुयी ?

CBI क्या है ?

Central Bureau of Investigation यानि CBI के बारे में आप थोडा बहुत तो जरूर जानते होंगे | ये Bureau हमारे देश की सुरक्षा में Important roll Play करता है | लेकिन ये Investigation Agency क्या क्या काम करती है और कैसे करती है ये भी आपको पता होना चाहिए |

इसीलिए हम इस आर्टिकल में CBI से जुडी सभी खास Information को लेकर आये है | ताकि इस Agency की Importance और Word Pattern को आप अच्छी तरह से समझ सके | और Decide कर सके कि आगे आपको इस Field में क्या करना है कैसे करना है | तो चलिए सुरु करते है और सबसे पहले जानते है कि CBI क्या है ?

Also Read : Artificial Intelligence क्या है ? | AI Course क्या है ?

CBI क्या है ? | What is CBI ?

CBI यानि Central Bureau of Investigation यानि केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो भारत सरकार की एक Premium Investigation Agency है | ये Agency अपराधिक और राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मामलों की Investigation करती है | CBI का Moto Industry, Impartiality, Integrity है |

ये Agency प्रशिक्षण विभाग के Under काम करती है |देश सबसे बड़ी जाँच Agency के रूप में CBI National और International Level पर होने वाले Crime और भ्रष्टाचार की जाँच करती है

क्या CBI और FBI कफी Similar है ? Federal Bureau of Investigation (FBI) और CBI में काफी सारी समानताएं दिखाई देती है | लेकिन असल में CBI के अधिकार और कार्यक्षेत्र FBI की तुलना में बहुत सीमित है |

CBI की स्थापना कब हुयी ?

अगर हम बात करें कि CBI की स्थपना कब हुयी | तो 1941 में भारत सरकार ने Special Police Establishment स्थापित किया था जिसका काम Second world war के दौरान भारतीय युद्ध और आपूर्ति विभाग में लेन देन में घूसखोरी और भ्रष्टाचार की जाँच करना था इसी Special Police Establishment को 1963 में CBI नाम मिला |

CBI कोई वैधानिक संस्था नही है | Delhi Police Establishment अधिनियम Act 1946 ने CBI को जाँच की शक्तियां दी है | CBI का Headquarter New Delhi में है | इसके Founding Director DP Kohli थे |

Also Read : How to Study Effectively in Science Stream ? 

CBI के कितने भाग है ?

यदि हम इसके भाग की बात करें तो CBI में दो Wings होते है | सामान्य अपराध विंग और आर्थिक अपराध विंग | सामान्य अपराधों को General Crime wing Handle करते है और आर्थिक अपराधों के मामलो से जुडी जाँच आर्थिक अपराध विंग करती है |

CBI के गठन के बाद इसे Anti Corruption Division, Economics Offices Division, Special Crime Division जैसे भागों मे बांटा गया | और अब आपको बताते है ये Division कौन से काम करते है |

CBI क्या है ?

Anti Corruption Division : केन्द्रीय सरकारी कर्मचारियों, केन्द्रीय पब्लिक उपक्रम और केन्द्रीय वित्तीय संसाधनों से जुड़े भ्रष्टाचार और धोखा धडी के मामलो की जाँच इस Division के द्वारा की जाती है |

Economics Office Division : वित्तीय धोखाधड़ी, बैंक धोखाधड़ी, आयात निर्यात और विदेशी मुद्रा अतिक्रमण पुरातन वस्तुएं, नार्को टेस्ट, सांस्कृतिक वस्तुओं और विनिसिध्ध वस्तुओ की तस्करी से जुडी जाँच इसी Division के द्वारा की जाती है |

Special Crime Division : बम ब्लास्ट, आतंकवाद, Underworld और माफिया से जुड़े Crime की जाँच ये Division करता है |

क्या CBI को जाँच के लिए किसी की Permission लेनी होती है ?

आगे बात करें कि CBI की Investigation करने के लिए किसी की Permission लेनी होती है | तो इसका जवाब है कि भले ही CBI भारत की सबसे बड़ी जाँच Agency है | लेकिन इसके बावजूद भारत सरकार के आदेश के बाद ही सीबीआई अपनी जाँच प्रक्रिया सुरु कर सकती है |

भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों में सीबीआई सीधे जाँच कर सकती है | क्योंकि Corruption से जुड़े सिकायत की जाँच करने के लिए सीबीआई को State या Centre की Permission नही लेनी पडती है |

Also Read : DRDO Scientist कैसे बनें ? | Criteria for DRDO Scientist

CBI को जाँच के आदेश कैसे मिलते है ?

भारत सरकार राज्य सरकार के सहमती से राज्य में मामलों की जाँच के आदेश CBI को देती है | Supreme Court और High Court बिना किसी सहमती से देश के किसी भी राज्य में आर्थिक मामलों की जाँच के लिए CBI को आदेश दे सकते है |

CBI Director को कैसे चुना जाता है ?

इसके Director को चुने जाने की प्रक्रिया गृह मंत्रालय से सुरु होती है | गृह मंत्रालय के द्वारा अनुभव के आधार पर IPS अधिकारियो की लिस्ट बनाई जाती है | और इस लिस्ट को कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग को भेजा जाता है |

Search कमेटी सिफारिश पर चर्चा करके लेस्ट सरकार को भेजती है जिसके बाद एक उच्च स्तरीय कमेटी जिसमे प्रधानमंत्री Chief Justice of India और लोक सभा के नेता प्रतिपक्ष शामिल होते है | सीबीआई डायरेक्टर को नियुक्त करती है | अभी CBI के नये निदेशक यानि CBI Chief श्री कुमार शुक्ला है |

साल 1997 से पहले सरकार अपनी मर्जी सीबीआई डायरेक्टर को कभी भी हटा सकती थी | लेकिन सन 1997 में विनीत नारायण मामलें के बाद सुप्रीम कोर्ट में कार्यालय कम से कम दो साल का कर दिया | ताकि Director मुक्त होकर के अपना काम कर सके |

वैसे ये जानना भी जरूरी है कि CBI Officers की कोई Particular Uniform नही होती है | और CBI में Vacancies को भरने के लिए UPSC और SSC के Exam Clear करने होते है |

Conclusion :

तो दोस्तों CBI भारत की एक बहुत ही महत्वपूर्ण Investigation Agency है | और इस Agency से जुडी खास और जरूरी Information अब आपको भी मिल चुकी है | तो हमे उम्मीद है कि ये Information आपके लिए काफी मददगार साबित होगी |

वैसे अगर आप इस Field में काम करना चाहते है तो आपको ढेर सारी बधाइयाँ इस बारे में सोचिये थोड़ी और Research कीजिये | और जो भी इस Field में लोग आप उन से भी बात कर सकते है |

Also Read : What is AIIMS ? | AIIMS की स्थापना कब हुयी ?

Dheeru Rajpoot

I am Dheeru Rajpoot an Entrepreneur and a Professional Blogger from the city of love and passion Kanpur Utter Pradesh the Heart of India. By Profession I'm a Blogger, Student, Computer Expert, SEO Optimizer. Google Adsense I have deep knowledge and am interested in following Services. CEO - Dheeru Blog ( Dheeru Rajpoot )

This Post Has 6 Comments

Leave a Reply