Depression क्यों होता है ? | Depression ke Lakshan

Depression ke Lakshan : Depression एक ऐसा Word है जिसके बारे में पहले कोई जानता ही नही था | लेकिन अब ज्यादातर लोग इसके बारे में जानते है कि Depression क्या होता है ? क्योंकि इसके शिकार लोगों की संख्या बहुत तेजी से बढती जा रही है |

ये Depression एक Mental Disorder होता है जिसे पहचानना और समय रहते दूर करना Mental Health के लिए बहुत जरूरी हो जाता है | खास बात यह है कि अपने जिस Behaviour को हम Normal समझ रहे होते है |

Depression ke Lakshan
Depression ke Lakshan

अक्सर वो डिप्रेशन के सिमट्म्स होते है | यानि अगर आपका मूड कभी कभार ऑफ होता है यानि आप बिना किसी खास वजह के उदास और सुस्त Feel करते है तो It’s Ok लेकिन अगर आप बार बार जल्दी जल्दी लम्बे Time तक दुखी Feel करते है तो इससे आपकी Daily Life Affect भी होती है | तो सम्भल जाइये क्योंकि ये Depression हो सकता है |

ऐसे में ये जानना बहुत जरूरी हो जाता है कि Depression होने के Reason क्या है किन किन कारणों से Depression होता है | ताकि उसे दूर करना आसान हो सके |

इसलिए आज हमारे इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले है के कारणों के बारे में जिसमे आपको पता चलेगा कि Depression क्यों होता है ? Depression ke Lakshan तो चलिए सुरु करते है और Depression के Causes जानने से पहले Depression को थोडा और समझते है

Types of Depression

Depression बहुत तरह का होता है | जैसे Major या Clinical Depression, Persistent Depression, Manic Depression और Perineal Depression | जब हफ्ते के ज्यादातर दिनों में Depressed Feel होता है किसी भी Activity में ख़ुशी नही मिलती अच्छी नीद नही आती या पूरी दिन नीद आती रहती है | Suicidal Thoughts जैसे सिमट्म्स नजर आते है | तो ये Major Depression होता है |

जब Depression दो साल या उससे भी ज्यादा समय तक बना रहता है | तो Persistent Depression कहलाता है | इसमें गहरी उदासी और निराशा महशुश होती है | किसी भी काम में मन नही लगता है | Self Steam Low हो जाती है और Social Activities से दूरी बना ली जाती है |

Manic Depression या Bipolar Depression में कभी बहुत ख़ुशी Feel होती है | तो कभी गहती निराशा | इस तरह के Depression में Low Energy रहती है | Concentrate  करना मुश्किल हो जाता है | Suicidal Thoughts आते है | और किसी भी Activity में मन नही लगता है |

Depression ke Lakshan
Depression ke Lakshan

Perineal Depression की बात की जाये तो महिलाओं में Pregnancy के दौरान ये रहता है | जो Child Birth के 4 हफ्तों तक रहता है | इस दौरान उदासी गुस्सा Anxiety Feel होती है | खुद को या बच्चे को चोट पहुचाने के ख्याल आते रहते है | खुद की और बच्चे की Care करने में बहुत ज्यादा Difficulty Feel होती है |

Depression ke Lakshan

Depression ke Lakshan : Depression एक extremely Complex Decease है जिसके Reasons के बारे में तो कोई नही जानता है| क्योंकि Life में ऐसी बहुत सारी चीजें होती है जो या तो Depression पैदा कर सकती है | या Depression की Seriousness को बढ़ा सकती है | तो ऐसे ही कुछ Reasons के बारे में आज हम जानते है |

1. Abuse :

Past में physical, Sexual या Personal Abuse Depression का Reason बन सकते है | उसे Clinical Depression यानि Major Depression में भी बदल सकते है | हममे से बहुत से लोग बड़े बड़े Conflict को आसानी से Handle कर पाते है | जबकि कुछ लोगों के लिए Conflict Handle करना बहुत Tough Task हो जाता है | ऐसे लोग Family, Friends या Business में होने वाले Conflict को सम्भाल नही पाते और Depression में चले जाते है |

2. Death :

किसी अपने की Death का दुःख भी कई बार इतना ज्यादा गहरा हो जाता है | कि ये Depression का रूप ले सकता है | और अगर दवाइयों की बात करें तो यूँ तो दवा हमारी सेहत को बेहतर बनाने में मदद करती है लेकिन कुछ दवाइयां Body और Brain पर ऐसा Reaction कर जाती है | जो डिप्रेशन का रिस्क बढ़ा देती है | ये दवाइयां Isotretinoin भी हो सकती है | Barbiturates, Benzodiazepines जैसी medicine भी हो सकती है |

3. Genetics :

किसी family Member को कभी Depression रहा हो और आपकी Family History में depression हो तो इसका रिस्क बढ़ जाता है | Depression को केवल genetic Decease नही कहा जा सकता है क्योंकि इसमें एक Single Gene की वजाय बहुत सारे Genes शामिल होते है |

4. Special Events :

सुनने में ये अजीब लग सकता है लेकिन कई बार बड़ी खुशखबरी भी  Depression का Reason बन सकती है | जैसे – नई जॉब, Married Life की सुरुआत और Graduation जैसी Degree लेना | ऐसे में कई लोगों को आगे बढ़ें नये माहौल नई Situation में Set होने, Divorce का डर होने से, Income की फिक्र होने पर Depression होने लगता है |

Personal Problems भी एक Reason हो सकता है | जिसमे किसी भी अपनी फॅमिली या सोशल ग्रुप से अलग हो जाना Depression को बुलावा दे सकता है | किसी दूसरी Mental Illness की वजह से Social Isolation भी Depression को काफी ज्यादा बढ़ावा देता है | और इसे Clinical Depression की तरह ले जाता है |

5. Serious Illness :

लम्बे Time का बीमार रहने पर और लोगो से कम Interact कर पाने से भी Depression होने के Chances बढ़ जाते है | किसी बीमारी के लिए ली जाने वाली दवाएं भी Brain पर ऐसा Effect डाल सकती है जिससे Depressed Feel होने लगे |

6. Brain Functions :

डिप्रेशन का सम्बन्ध Brain से भी होता है | Researches के मुताबिक Clinical Depression Patient और Normal Person के Brain में Difference होता है | Depression की History रखने वाले कुछ लोगों के Brain का Hippocampus Part जो Memory Storage से जुड़ा होता है | वो छोटा पाया गया | जबकि Normal लोगों के Brain में Hippocampus का Normal Size मिला |

Conclusion :

दोस्तों Depression Normal Behaviour में Abnormal Changes होते है | ऐसे में इससे बचाव के लिए अपनी Mental Health की देखभाल करते रहना बहुत जरूरी होता है | और किसी भी तरह का Abnormal Behaviour या कुछ भी Changes आप महशुश कर रहे है तो थिरेपिस्ट की मदद लीजिये इसके आलावा अगर आप Life के up Downs को Positive Attitude के साथ देखे तो इस तरह की Problems को खुद से बहुत दूर रख सकते है |

तो हम ये उम्मीद करते है कि इस आर्टिकल में हमने Depression के जितने भी Reasons आपको बताये है वो Mental Health को समझने और खुद को बेहतर तरीके से समझने के लिए, अपनी देखभाल करने के लिए आपको Aware कर पाए होंगे | और आप ये भी जान पाए होंगे कि Depression क्यों होता है ? and Depression ke Lakshan.

Dheeru Rajpoot

I am Dheeru Rajpoot an Entrepreneur and a Professional Blogger from the city of love and passion Kanpur Utter Pradesh the Heart of India. By Profession I'm a Blogger, Student, Computer Expert, SEO Optimizer. Google Adsense I have deep knowledge and am interested in following Services. CEO - Dheeru Blog ( Dheeru Rajpoot )

This Post Has 6 Comments

Leave a Reply