6 Amazing psychological facts in Hindi | Influence Book Summery in Hindi

Psychology Facts in Hindi : Ellen Langer जोकि हावर्ड यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर ऑफ साइकोलॉजी हैं | उन्होंने एक Story Conduct करी, जिसमें फोटोकॉपी कराने के लिए लोग एक लाइन में खड़े हुए थे और तभी एक Person Line तोड़कर आगे बढ़ता है और बोलता है Excuse Me मेरे पास सिर्फ 5 Pages है क्या मैं आप से पहले Xerox Machine Use कर सकता हूं | तो इसके जवाब में 60% लोगों ने Agree करा और उसे मशीन यूज करने दी |

6 Amazing psychological facts in Hindi
6 Amazing psychological facts in Hindi

वही जब यह Experiment दोबारा किया गया तो इस बार एक नया Person Line से आगे जाकर बोलता है | Excuse me मेरे पास सिर्फ 5 Pages है | क्या मैं आप से पहले Xerox Machine Use कर सकता हूं | क्योंकि मेरा यह काम बहुत अर्जेंट है तो इसके जवाब में 93% लोगों ने उसे मशीन को यूज करने दिया |

6 Amazing psychological facts in Hindi | Influence Book Summery in Hindi

Facts in Hindi : Author Robert Cialdini के According के सब Part है Psychology of Persuasion का | तो इसीलिए वह अपनी Book INFLUENCE The Psychology of Persuasion में हमारे साथ ऐसे ही 6 Principles शेयर करते हैं जिससे हम Human के सारे decisions effect होते हैं |

साथ ही हमें सीखने को मिलता है कि हम कैसे Influence को हैक करके किसी से भी बात करते वक्त उन्हें अपने फेवर में कर सकते हैं | या Persuasion skills से उनकी Psychology को Influence कर सकते हैं |

दोस्तों सच में यह Book बहुत Powerful है क्योंकि इन्हें कुछ Tips का Use बड़े-बड़े Politicians, Brands, Salesman even Criminal लोग भी करते हैं क्योंकि इन Principles का यूज अच्छे और बुरे दोनों तरीके से किया जाता है लेकिन क्योंकि आप हमारी फैमिली का Part हो तो हमें पूरा भरोसा है कि आप इन Tips और Principles का Use अच्छे Way में ही करोगे तो आइए जानते हैं – 6 Amazing psychological facts in Hindi | Influence Book Summery in Hindi के बारे में –

1. Scarcity :

एक Experiment में 2 जार में से चॉकलेट कुकीज़ ऑफर करी गई | एक जार में सिर्फ दो कुकीज थी और दूसरे जार में 10 कुकीज | मगर लोगों ने उन्हीं कुकीज को ज्यादा अच्छा बताया जो Quantity में सिर्फ दो थी | जिससे Author को यह पता चला कि हम लोग हमेशा उस चीज की Value ज्यादा करते हैं | जिसकी Quantity बहुत लिमिटेड होती है |

इसका Best Example हमें देखने को मिलता है | जब कोई Product Limited Time Offer में होता है | तो लोग Automatically उसकी तरफ अट्रेक्ट होने लगता है और By the End वह Product Sold out भी हो जाता है | या जब कोई मूवी Banned कर दी जाती है तो लोग उसे देखने के लिए ज्यादा उतावले हो जाता है |

यह Concept सिर्फ Marketing World में नहीं बल्कि हर जगह Apply होता है | आपने नोटिस किया होगा कि India में उन Colleges या School जिनकी ज्यादा Value होती है | जिसमें कम से कम सीट होती हैं और ज्यादा से ज्यादा कंपटीशन होता है |

How scarcity Principle works so Effectively ?

हम सब इस बात पर बिलीव करते हैं कि जो चीजें हमें मुश्किल से मिलती हैं वह ज्यादा अच्छी होती है | मुश्किल से मिलने वाली चीजें हमें ज्यादा Valuable लगती हैं क्योंकि लोग किसी भी चीज की अवेलेबिलिटी से ही उसकी Quality Judge करने लगते हैं |

अगर आप इस Concept को अपनी लाइफ में यूज करना चाहते हो और अच्छी relationship build करना चाहते हो तो अपनी Availability को बाकी लोगों की लाइफ में लिमिटेड रखो ताकि वह आपकी कम अवेलेबिलिटी की वजह से ज्यादा वैल्यू करें |

तभी काफी Relationship experts इसको Use करना suggest करते हैं | क्योंकि जब आप किसी के लिए अपनी अवेलेबिलिटी को बहुत ज्यादा बढ़ा देते हो तो लोग आपको वह वैल्यू नहीं देते जो आप Actual में deserve करते हो |

2. Liking :

इसका मतलब बहुत ही सीधा और आसान है हम जिस किसी को भी पसंद करने लगते हैं या जो हमारे लिए इंपॉर्टेंट होता है | हम Automatically उनकी बातों पर Yes बोलते हैं और हामी भर देते हैं | पर वह कौन से Factors है जिनसे हम दूसरे को पसंद करने लगता है

Amazing psychological facts in Hindi : चलिए उनके बारे में बात करते हैं –

A. Physical Attractiveness :

लोगो का Dressing Sense उनकी Body shape, उनके Looks ये सब हमे उनकी तरफ Physically Attract करता है | या फिर हम उनसे physically Attract होकर उन्हें अपनी Life का Part बनाना चाहते है | या हम खुद उनकी तरह दिखना चाहते है | ये ही Key Factors होते है जो हमे किसी की भी तरफ Physically Attract करते है |

B. Similarity :

जो लोग हमारी तरह होते हैं जिनके साथ हमारे Interest Match होने लगते हैं या हमारे Believes similar होते हैं | हमारा Background, Lifestyle etc. कुछ भी जो दो लोगों में कॉमन होता है वो Automatically एक-दूसरे को पसंद करने लगता है | 

C. Compliments :

हम सभी को लोगों से अपनी तारीफ सुनना बहुत पसंद होता है जबकि वह पूरी तरह सच ना भी हो तब भी | क्योंकि अपनी तारीफ सुनने से हमारी सेल्फ और बढ़ जाती है और जब कोई हमें ऐसा फील कराता है तो हमें वह Person बहुत अच्छा लगने लगता है |

D. Contacts :

हम जितना ज्यादा लोगों से मिलते हैं हम सबकॉन्शियसली उन पर उतना ही ज्यादा भरोसा करने लगते हैं | साथ ही वह सारी जगह जहां पहले जा चुके हैं जो एक्सपीरियंस हम पहले ले चुके हैं वह सब हमें रिलेटेबल फील कर आता है और हम Complete Strange और नई चीजों के सामने उन्हीं चीजों को Choose करते हैं जिनसे हम familiar है |

E. Cooperation :

जब आप किसी एक गोल पर इसी के साथ काम करते हो चाहे वह काम आपको पसंद हो या ना पसंद हो लेकिन फिर भी आप उस काम को उनके साथ मिलकर कर रहे होते हो तो आप Automatically उस Person के साथ एक Connection Form कर लेते हो | जैसे स्पोर्ट्स में एक ही टीम में खेलना हो या किसी प्रोजेक्ट पर साथ में काम करना etc.

3. Authority :

इसका मतलब सिंपल होता है कि जब कोई Expert, Leader, Professional या हमसे कोई बड़ा हमें कुछ काम करने के लिए बोलता है तो हम Respect show करते हुए Naturally उस काम को करने के लिए Ready हो जाते है लेकिन ऐसा क्यों ?

तो इसका जवाब मिला जब एक Experiment के लिए एक Fake Doctor को हॉस्पिटल में भेजा गया और 22 नर्स को एक मेडिसिन पर describe करी गई जो उन्हें Patient को देनी थी लेकिन वह मेडिसिन एक Deadly Medicine थी |

6 Amazing psychological facts in Hindi
6 Amazing psychological facts in Hindi

मगर फिर भी 95% Nurses ने उस डॉक्टर की बात मानी और मेडिसिन देने को Agree हो गई क्योंकि वह डॉक्टर के Profession का Respect करती थी | Doctor के Experience की वजह से उनके सारे Decisions को Blindly Accept कर लेती थी |

तो हमें भी ऐसे ही कई सारे फैक्टर की वजह से लोगों को जज कर लेते हैं और उनकी बातों में आ जाते हैं जैसे – पुलिसमैन, फायरमैन, डॉक्टर, सोल्जर etc. हम सब इनके प्रोफेशन और यूनिफार्म से उनकी रिस्पेक्ट करते हैं |

कई लोगों के Title की वजह से उन्हें बहुतFaver मिलता है | जैसे – पीएचडी, एमबीए, इंजीनियरिंग etc. या जो लोग अच्छा Dressing sense रखते है | जैसे – Well Dressed Suit, Formal Clothes इससे हम सबके माइंड में उनका फर्स्ट इंप्रेशन बहुत अच्छा Show होता है | 

4. Commitment & Consistency :

हम सबके Decisions हमारे Past Experiences और Knowledge पर Based होते हैं | हमने जो भी Past में करा है या बोला है हम उसी के According Act करते हैं हम चाहते हैं कि हमारी life Past से consultant रहे | जिसका कई बार बुरा असर भी होता है पर आप Same mistake बार-बार करने लगते हो |

अगर कोई आपसे एक छोटा Task करवा सकता है तो इसके High Chances है कि जब वह आपसे थोड़ा बड़ा Task करने की डिमांड करेगा तो आप उसे ना नहीं बोल पाएंगे | यह Basic Human Nature होता है आप भी इसका यूज कर सकते हो |

अगर कोई एक Commitment कर देता है तो वह सबकॉन्शियसली उस डिसीजन को सही साबित करने में लग जाता है और उस टाइम को सही है या गलत ज्यादा जल्दी डिसाइड नहीं कर पाता क्योंकि वह अपने कमिटमेंट से Consistent रहना चाहता है |

For Example :

जो लोग अपने Weight Loss करने पर काम करते हैं | उन्हें अक्सर यह कहा जाता है कि अपने Weight को हर भी Track करते रहो क्योंकि यह उन्हें Feel कराता रहता है कि वह अपने Commitment को कितना Consistently Follow कर रहे हैं |

Author कहते हैं कि अगर कोई Commit करके Consistently उस पर मेहनत करके किसी चीज को अचीव करता है तो वह उसकी कई ज्यादा वैल्यू करता है जबकि किसी को वही Same चीज बिना किसी मेहनत या Effort के मिली हो तो वह उसकी ज्यादा Respect नहीं करता |

5. Social Proof : 

Social Proof में हम देखते हैं कि लोग कैसे एक दूसरे को देख कर उन्हें फॉलो करने लग जाते हैं | इसमें Author हमें हर Behaviour का Concept बताते हैं | जब हम बहुत सारे लोगों को कुछ करते हुए देखते हैं तो बिना सोचे समझे उन्हें फॉलो करने लग जाते हैं |

इसमें हम Peer Pressure को भी देखते हैं जिसमें हमारे आसपास के लोग हमें उस काम को करने के लिए motivate करते हैं | यह एक तरह का सोशल प्रेशर है जिसमें हमें यह फील होता है कि अगर सब लोग यह काम कर रहे हैं तो यह सही ही होगा |

For Example : facts in Hindi

अगर आप ऑनलाइन एक Product Purchase कर रहे हो तो क्या आप उस Product को Choose करोगे जिस पर एक Review है और 5 Start की Rating है या उसको जिस पर 5000 Review है और 4.5 की Rating है | Well ज्यादातर लोग उसे ही खरीदेंगें जिसे ऑलरेडी बहुत लोगो में यूज कर रखा है |

कई बार आपने नोटिस करा ही होगा कि TV Shows में Fake Laughter को add करा जाता है लेकिन बहुत लोगों को यह पसंद नहीं आता | पर Studies ने यह Show करा है कि Laughter Track को Use करने से लोग उस Show को Funny Show की Rating देते हैं |

जैसे कि अगर आप Friends Show को देखते हैं तो Starting में Laughter Track आपको इरिटेट कर सकता है लेकिन धीरे-धीरे उसकी वजह से वह Show आपको Funny लगने लगता है |

6. Reciprocation :

Reciprocity का Simply मतलब होता है | जब हमें कोई फ्री गिफ्ट देता है यह हमारी हेल्प करता है तो हमें Naturally इन फेवर को वापस करने की अर्ज यानि की जरूरत महसूस होती है क्योंकि most of the time हर किसी को किसी का एहसान फ्री में लेना पसंद नहीं होता क्योंकि लोगों को लगता है कि जब कोई भी लोगों से सिर्फ favers ही लेता रहता है लेकिन कभी उन्हें रिटर्न नहीं करता तो उससे बाकी के लोग Negative way में Treat करते हैं |

जैसे कई बार ऐसा होता है कि आप किसी के साथ डिनर पर जाते हो और वह सारा बिल पे करते हैं लेकिन आप से एक भी पैसा नहीं लेते तो आपके अंदर Naturally Feel होता है कि आपको भी उन्हें Dinner पर Invite करना चाहिए ताकि आप खुद पर Pay करें और उनका अहसान उतार सके |

तो अगर आप भी चाहते हो कि बाकी के लोग आपके लिए भी कुछ करें या Faver करे तो पहले आप उन्हें फ्री में कुछ वैल्यू दो ताकि उन्हें भी आपकी हेल्प करने की जरूरत महसूस हो |

इसी Strategy का Use काफी Brands भी करते हैं जहां वह आपको पहले चीजें फ्री में तो ट्राई करने को देते हैं लेकिन इसी दौरान जब आपका मन कहता है कि आपको यह ले लेना चाहिए | तो तब वह आपसे पैसा Charge करते हैं |

Author हमें Request Then Retreat की Study भी सिखाते हैं जिसमें अगर आपको किसी से नेगोशिएट करना है तो पहले उनके सामने जो आपकी actual Need है उससे कई ज्यादा की डिमांड करो | जिससे वह नेगोशिएट करके नीचे आएंगे और आपकी Actual Need पर सेटल हो जाएंगे |

Conclusion :

Amazing psychological facts in Hindi : दोस्तों दोस्तों इन 6 Principles को यूज करें किसी से भी अपनी बात मनवाने के लिए या जैसा आप चाहते हो वैसा करवाने के लिए | जैसे बड़े-बड़े Brands अपना Product Sell करवाने या Marketing करने के लिए इन प्रिंसिपल को बहुत अच्छे से यूज करते हैं | आप इसका अपनी लाइफ में नए लोगों से Relationship Build करने में यूज कर सकते हो जो आपको Professionally और Personally बहुत हेल्प करेगा |

इसी के साथ हम आशा करते है कि अब आपको 6 Amazing psychological facts in Hindi | Influence Book Summery in Hindi के बारे में पता चल गया होगा और इसे अपनी Life में Apply भी करेंगे | तो दोस्तों हमे Comment करके जरूर कि आपको हमारा ये Article आपको कैसा लगा |

7309991644

Dheeru Rajpoot

I am Dheeru Rajpoot an Entrepreneur and a Professional Blogger from the city of love and passion Kanpur Utter Pradesh the Heart of India. By Profession I'm a Blogger, Student, Computer Expert, SEO Optimizer. Google Adsense I have deep knowledge and am interested in following Services. CEO - Dheeru Blog ( Dheeru Rajpoot )

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply