How to Start Textile Business ? | Textile Business कैसे सुरु करें ?

How to Start Textile Business : वैसे Office के लिए तैयार होते हुए सूट और टाई लगाना हो या फिर किसी त्यौहार में खादी के बने आउटफिट पहनने हो, स्कूल, ड्रेस, जींस, साड़ी, ट्रेडिशनल से लेकर के फॉर्मल और कैजुअल वेयरये सभी टैक्सटाइल इंडस्ट्री की देन है और आज हम आपको बताएगें कि अगर आप टैक्सटाइल इंडस्ट्री में अपनी किस्मत आजमाना चाहते हैं और अपना खुद का Textile Business शुरू करना चाहते हैं |

How to Start Textile Business

तो चलिए आपको ले चलते हैं Full case study article के रोलर कोस्टर राइड पर जहां आपको हर वह बात पता चलेगी की How to Start Textile Business ? और कैसे आप बन सकते हैं Textile Industry का हिस्सा तो अपनी सीट बेल्ट बांध लीजिए और और थोड़ा टाइम इन्वेस्ट कीजिए | तो इसके लिए सबसे पहले जान लीजिए कि कितनी बड़ी है इंडियन टैक्सटाइल इंडस्ट्री |

Also Read : How to Crack IIT Full Information ? | IIT JEE कैसे Crack करें ?

हमारी टीम हमेशा कोशिश करती है कि आप की डिमांड और Articles पर दिए हुए कॉमेंट्स के हिसाब से Articles लिखे जाए | बहुत से लोगों ने How to Start Textile Business ? और Textile Industry पर Full Case Study Article की Demand की थी | 

Textile Industry in India :

टैक्सटाइल इंडस्ट्री की बात करें तो 2017 में इंडियन टैक्सटाइल इंडस्ट्री 150 बिलियन डॉलर की थी और 2023 तक ये 223 बिलियन डॉलर की हो जाएगी | Textile Exporting देशों में 2020 के डाटा के हिसाब से चाइना लीडिंग कंट्री है | इंडिया की हेल्प से नया देश बना बांग्लादेश इस मामले में इंडिया से भी आगे और जर्मनी के बाद Third पोजीशन पर है और वियतनाम के बाद इंडिया पांचवें नंबर पर है 

इंडियन टैक्सटाइल इंडस्ट्री इतनी बड़ी है कि इसे मेंटेन करने के लिए सेंट्रल गवर्नमेंट ने मिनिस्ट्री ऑफ टेक्सटाइल बना रखा है और इंडियन टैक्सटाइल इंडस्ट्री देश की जीडीपी में 2% का कॉन्ट्रिब्यूशन भी देती है तो इतना कुछ जान लेने के बाद अब चलते हैं आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि आप अपना खुद का टैक्सटाइल बिजनेस कैसे शुरू कर सकते हैं |

How to Start Textile Business ? 

सबसे पहले यहां पर आपको अपने मार्केट के बारे में जानना होगा क्योंकि किसी भी Business में पैसा इन्वेस्ट करने से पहले आपको मार्केट का पता होना चाहिए कि आप जिस फील्ड में उतरना चाहते हैं उनकी मार्केट वैल्यू क्या है क्या उस प्रोडक्ट की डिमांड मार्केट में रेगुलर रहती है या फिर मार्केट प्रॉफिटेबल है या नहीं | इन Basic सी बातों पर अगर आपकी नॉलेज और आपकी रिसर्च वर्क क्लियर रहेगी तो आप कॉन्फिडेंस के साथ इन्वेस्टमेंट कर पाएंगे |

अगर कहीं भी कोई आपको डाउट है तो टैक्सटाइल बिजनेस कर रहे हैं | किसी भी एक्सपोर्ट या बिजनेसमैन से एडवाइस लेना बुद्धिमानी होगी बस एक ये बेसिक सी बात समझ लीजिए कि जब से इंसान ने अपना तन ढकना सीखा है तब से कपड़े डिमांड में है और यह हमेशा ही रहेंगे बस जरूरत है Current Trend को समझने की, लोग अभी कैसे कपड़े पहन रहे हैं और देश दुनिया किस स्टाइल या ट्रेंड को फॉलो कर रही है क्योंकि हर Business की कामयाबी डिमांड और सप्लाई के बेहतर तालमेल पर टिकी होती है |

Also Read : How to get admission in IIT ? | JEE Preparation कैसे करें ?

इसमें भी दो से तीन Important Points ध्यान रखने वाले हैं |

जैसे –

1. आप का Target Fabric क्या होगा | ये एरिया की लोकेशन और कस्टमर की Choice पर भी डिपेंड करता है | इसके लिए आप एक छोटा सा survey भी कर सकते हैं कि आप जिस एरिया में अपना Textile Business सुरु करना चाहते है | वहां लोग किस तरह के कपड़े पहनते हैं इसमें आप किसी इस्टैबलिश्ड गारमेंट शॉप, गारमेंट ब्रांड, Mall या शोरूम से Experience लेकर के भी सीख सकते हैं |

2. Competition in Textile Business :

अब Business का दूसरा सबसे बड़ा चैलेंज आता है | Competition | अगर आप Textile Business में कोई शोरूम खोलने की प्लानिंग कर रहे हैं या फिर Whole Seller बनने जा रहे हैं | तो मार्केट में वह कौन लोग हैं जो आपको तगड़ी कंपटीशन दे सकते हैं उनके बारे में आपको पता होना चाहिए कि उनका बिजनेस मॉडल क्या है वह सस्ते में सामान कहां से मंगवाते हैं और कस्टमर्स को वह किस रेट पर सामान दे रहे हैं अब आगे बात करते हैं कैपिटल के बारे में,

3. Capital in Textile Business :

Textile Business में भी आप किस कैटेगरी में जाना चाहते हैं उसके ऊपर आपकी इन्वेस्टमेंट डिपेंड करती है अगर आप टैक्सटाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाना चाहते हैं | तो इसमें करोड़ों रुपए का खर्चा है इसके अलावा भी टैक्सटाइल प्रिंटिंग गारमेंट शॉप शोरूम रिटेल आउटलेट जैसे बिजनेस 10 से 50 लाख के बीच किया जा सकता है | यह भी Calculative Capital है | जो आपकी Business के साइज के हिसाब से कम या ज्यादा हो सकती है |

Business Loan :

यहां तक अगर आपने सोच लिया है तो बात आती है बिजनेस लोन की टेक्सटाइल इंडस्ट्री में अपना धंधा जमाने के लिए Business Loan मिल जाते हैं | किसी लॉयर या CS से अपना प्रोजेक्ट रिपोर्ट या डीपीआर बनाकर अगर आप Bank जाते हैं | तो लोन मिलने की पॉसिबिलिटी बढ़ जाती है बैंक जाने पर आपको यह भी क्लेरिटी मिल जाएगी कि बिजनेस लोन पाने के लिए बैंक और क्या-क्या चीजों की डिमांड करेगा और क्या Terms & Conditions आपके सामने रखेगा |

इसे भी पढ़ें : Best Career Options after 12th For Biology Students in Hindi

अगर आप गूगल पर सर्च करेंगे “How to Start Textile Business ? तो सर्च रिजल्ट में एचडीएफसी बैंक का भी एक लिंक आएगा | जिस पर टैक्सटाइल बिजनेस के बारे में कुछ जरूरी बेसिक बातें लिखी हुई है और बिजनेस लोन अप्लाई करने का ऑप्शन भी आपको दिख जाएगा | तो जब लोन तक आप पहुंच जाए तो उसके आगे आपको अगला स्टेप लेना होगा लाइसेंस के बारे में,

Textile Business Licence

Textile Business खड़ा करने के लिए आप शोरूम खोलें या फिर मैन्युफैक्चरिंग यूनिट या फिर प्रिंटिंग हर काम के लिए आपको लाइसेंस की जरूरत पड़ेगी | जिससे Proprietary Firm, पार्टनरशिप Firm, लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप यानि की LLP या फिर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के तौर पर Established कर सकते हैं | इसके अलावा भी जब आपका Tern over ₹10 लाख तक पहुंच जाएगा तो आपको जीएसटी रजिस्ट्रेशन भी करवाना पड़ेगा |

textile business

अगर आप टैक्सटाइल शॉप या शोरूम खोलने जा रहे हैं तो अपने area या इलाके में Municipal Corporation में रजिस्ट्रेशन भी करवाना पड़ेगा | जिसके लिए आपको 5 से 10000 की फीस भी लग सकती है | इन सारी चीजों के लिए आप किसी सीए या लॉयर को अप्रोच कीजिए जो आपको सभी लीगल work में हेल्प करेंगे तो यह तो हुई लाइसेंस की बात और अब बात करते हैं

Types of Textile Business

मतलब अब जानते है कि टैक्सटाइल इंडस्ट्री में किस तरीके के Business options अवेलेबल है |

  1. Textile Printing Industry : अगर आप टैक्सटाइल प्रिंटिंग इंडस्ट्री में जाना चाहते हैं तो मैनुअल टैक्सटाइल प्रिंटिंग मशीन, सेमी ऑटोमेटिक टैक्सटाइल प्रिंटिंग मशीन, ऑटोमेटिक मल्टी कलर प्रिंटिंग जैसे ढेर सारे मशीन मार्केट में अवेलेबल है | जिनके साथ आप प्रिंटिंग बिजनेस में जा सकते हैं | 100000 से लेकर ₹5000000 लाख और उससे भी ज्यादा महंगे प्रिंटिंग मशीन आपको मिल जाएंगे | यह डिपेंड करता है कि आपका बिजनेस कैपिटल कितना है |                                                                                                                 
  2. Online Store : आजकल लोगों को ऑनलाइन शॉपिंग का बहुत craze है या यह कह लीजिए किस समय की डिमांड है तो जरूरत की लगभग हर चीज में ऑनलाइन मार्केट ग्रो कर रहा है | कपड़े, जूते, लाइफ़स्टाइल प्रोडक्ट्स, इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम्स, ग्रोसरी सब कुछ ऑनलाइन बिक रहा है | इसलिए आप अपनी खुद की ऑनलाइन वेबसाइट बनवाकर और सोशल मीडिया मार्केटिंग के जरिए भी अपना टेक्सटाइल या गारमेंट बिजनेस शुरू कर सकते हैं

सोशल मीडिया पर अपना टाइमलाइन स्क्रॉल करते हुए आपको बहुत ही कमर्शियल ऐड दिखते होंगे | जिनमें आउटफिट्स और Garments के भी Ads होते हैं | तो अगर आपके पास अच्छा कलेक्शन है और प्रोडक्ट भी यूनिक है तो आपकी रेगुलर कस्टमर्स के साथ-साथ ऑनलाइन कस्टमर्स भी आपकी प्रॉफिट को बढ़ाएंगे |

इसे भी पढ़ें : How to Become Librarian & Librarian Course क्या है ?

Wholesaler or Retailer :

अब बात आती है | Wholesaler या Retailer मतलब यह कि गारमेंट और टेक्सटाइल का बिजनेस ही ऐसा है जिसके डिमांड हमेशा ही रहेगी इसलिए इसमें Wholesaler या Retailer बन करके भी आप अपना बिजनेस बढ़ा सकते हैं | इसके लिए आपको किसी अच्छे सप्लायर को ढूंढना पड़ेगा | जो आपको सस्ते में मैटेरियल सप्लाई करें |

क्वालिटी प्रोडक्ट, Comfort, Reasonable Price इन तीनों क्राइटेरिया को मैच करने के लिए आप किसी अच्छे सप्लायर से कांटेक्ट कीजिए | जो आपको ओरिजिनल और क्वालिटी प्रोडक्ट दें क्योंकि अगर आपकी कस्टमर्स लॉयल रहेंगे तो वह बाकी लोगों को भी आपकी शॉप या शोरूम के बारे में Recommend करेंगे और ऐसा हुआ तो आपके बिजनेस का ग्रोथ रेट हमेशा हाई रहेगा | अब बात करते हैं ट्रांसपोर्टेशन की,

Transportation :

इंडिया में सूरत, वडोदरा, सोलापुर, पुणे, जलगांव, चेन्नई, मदुरई, सालेम, कानपुर, बेंगलुरु, ग्वालियर जैसे शहर टेक्सटाइल में लीड करते हैं | इन जगहों से अगर आप कपड़े मंगवाते हैं तो ट्रांसपोर्टेशन पर भी अच्छा खासा खर्चा आता है इसके लिए आप मार्केट में अच्छे और सस्ते किसी ट्रांसपोर्ट की सर्विस ले सकते हैं या फिर इंडियन रेलवे से भी आप अपना कंसाइनमेंट मंगा सकते हैं |

इनके दिल्ली के गांधीनगर मार्केट में भी सस्ते में आपको टेक्सटाइल प्रोडक्ट मिल जाएंगे | वैसे अगर आप खुद Transport का Business सुरु करते हैं | तो आप Indirectly भी टैक्सटाइल इंडस्ट्री से जुड़कर आप प्रॉफिट कमा सकते हैं |

इसे भी पढ़े : How to Become a Raw Agent ? | Raw Agent कैसे बनें ?

Career Options in Textile Business

तो इतनी सारी जानकारी जाने के बाद अगर करियर के लिहाज से हम बात करें तो ऐसे करियर ऑप्शन है जिनके साथ आप टैक्सटाइल इंडस्ट्री में जा सकते हैं | Knitting Machine Technician, Laboratory Technician, Loom Technician, Sales Manager, Plant Engineer, Machining Operator, Textile Tester, Designer जैसे ढेर सारे Options के साथ आप अपना करियर बना सकते हैं

Institute of Apparel Management Gurugram, IIT Delhi, Anna University Chennai, Mumbai University, NIFT Delhi, जैसे ढेर सारी इंस्टिट्यूट है जहां से आप टैक्सटाइल इंडस्ट्री की पढ़ाई कर सकते हैं |

Conclusion :

तो दोस्तों हम उम्मीद करते हैं कि How to Start Textile Business ? और टेक्सटाइल से जुड़ी इस फुल केस स्टडी ने आपकी काफी हेल्प की होगी | कमेंट बॉक्स में लिखकर के जरुर कीजिएगा आपका प्यार और साथ ही साथ आपके Suggestions और यह जानकारी आपको कैसी लगी | और आगे किस बारे में जानना चाहते है वो भी लिख भेजिएगा |

साथ ही थोड़ा इंतजार कीजिएगा बिकॉज़ हम आपके सारे टॉपिक नोट कर रहे हैं उन पर फुल रिसर्च चल रही है हमारी पूरी टीम बहुत मेहनत कर रही है लेकिन आपको पता है ना सब्र का फल मीठा होता है | तो उसके लिए थोड़ा इंतजार | 

Also Read : How to get job in google, Salary in Google ?

Dheeru Rajpoot

I am Dheeru Rajpoot an Entrepreneur and a Professional Blogger from the city of love and passion Kanpur Utter Pradesh the Heart of India. By Profession I'm a Blogger, Student, Computer Expert, SEO Optimizer. Google Adsense I have deep knowledge and am interested in following Services. CEO - Dheeru Blog ( Dheeru Rajpoot )

This Post Has 8 Comments

Leave a Reply